नागपूर

को ऑपरेटिव बैंक के कर्मचारियों ने बैंक से की 86 लाख की धोखाधड़ी

तहसील पुलिस ने संत जगनाड़े क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसायटी जानगाथ बुधवारी की मैनेजर दुर्गा नरेश भावलकर (55) की शिकायत पर 5 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

आरोपियों में संस्था के शाखा प्रमुख विनोद गजानन फटिंग, एजेंट अरविंद सदाशिव उराड़े, देवेंद्र विनायकराव सरोदे, लिपिक नीतेश गोपालराव खापेकर और चपरासी दीपक बाबूराव तेलमासरे का समावेश है. 18 दिसंबर 2001 से 30 नवंबर 2011 के बीच आरोपियों ने संस्था में काम करते हुए अपने पदों का दुरुपयोग किया.

आपसी मिलीभगत से आरोपियों ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर अपने नाम पर 86 लाख रुपये का लोन लिया. सोसायटी और खातेधारकों को आर्थिक नुकसान पहुंचाने के इरादे से लोन की रकम भी अदा नहीं की. संचालक मंडल द्वारा कार्रवाई शुरू की गई तो पता चला कि संस्था में जमा करवाए गए सारे दस्तावेज फर्जी थे. प्रकरण की शिकायत पुलिस से की गई. पुलिस ने विविध धाराओं के तहत धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू की है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Don`t copy text!