नागपूर

नागपुर के जमशेद सिंह स्कूटर पर घूमकर लोगों को दे रहे है लंगर सेवा

ग़रीब लोगों की मदद के लिए एक सिख अपने स्कूटर पर लंगर लेकर नागपुर (Nagpur) की गलियों में निकलता है और ज़रूरतमंदों को मुफ़्त में भोजन देता है। –

यह नेक काम करने वाले व्यक्ति का नाम जमशेद सिंह कपूर (Jamshed Singh Kapoor) है। वे पेशे से एक ज्योतिष हैं। जमशेद हर रोज़ दोपहर तीन बजे से लोगों में दाल खिचड़ी बांटने निकल जाते हैं। जमशेद के मुताबिक वे लंगर सेवा 2013 से करते आ रहे हैं। वे बताते है कि इससे पहले केवल ग़रीब लोग खाना लेते थे, लेकिन महामारी और लॉकडाउन के कारण अन्य लोग भी खाना लेते हैं। –

जमशेद को नागपुर की गलियों में ‘लंगर सेवा’ लिखी टी-शर्ट पहने लोगों को दाल खिचड़ी परोसते आसानी से देखा जा सकता है। वे हर रोज़ अपने स्कूटर के ऊपर खिचड़ी से भरा बर्तन बांध कर घर से निकल जाते हैं। एक भिखारी जो उनके पास अक्सर खाना लेने आता था। उसके बारे में बताते हुए जमशेद कहते हैं कि एक दिन वह उन्हें कपड़ों से भरी एक थैली देते हुए कहा कि जब उसकी मौत हो जाए तो ये कपड़े वो दूसरे ज़रूरतमंद लोगों में बांट दें और जमशेद ने वह थैली रख ली।-

उस भिखारी के मौत के बाद जमशेद ने जब वह थैली खोली, तो उसमें कपड़ों के साथ 25000 रुपये भी थे। उस पैसे से उन्होंने लंगर बनवाकर लोगों में बांट दिया। जमशेद के इस कार्य में उनके आस-पास के लोग भी मदद करते हैं। वे उन्हें अनाज, सब्ज़ी और रुपये आदि देते हैं। जमशेद सिंह कपूर (Jamshed Singh Kapoor) सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की याद में हर रोज सैकड़ों लोगों का पेट भरते हैं। गुरु नानक देव जी ने सन् 1512 में नागपुर का दौरा कर वहां के स्थानीय आदिवासियों को लंगर के तहत खाना खिलाया था। अब जमशेद का लक्ष्य 24 घंटे लंगर सेवा जारी रखने का है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Don`t copy text!