नागपूर

बांधकाम सामग्री की बढ़ती कीमतोंसे प्रॉपर्टी की कीमतों में बढोतरी निश्चित

सही मूल्य पर नागपुरवासियो को बढ़िया प्रॉपर्टी देने का कार्य हरदम क्रेडाई नागपूर द्वारा किया गया है। इस समय बांधकाम सामग्री की बढ़ती कीमतोंसे प्रॉपर्टी की कीमतों में बढोतरी निश्चित है ।क्रेडाई नागपूर मेट्रो के अध्यक्ष विजय दरगण ने प्रेस वार्ता में निर्माण सामग्री की कीमतों में भारी वृद्धि को लेकर चिंता व्यक्त की है ।उनका कहना था कि इस मूल्य वृद्धि का कंस्ट्रक्शन क्षेत्र पर प्रतिकुल प्रभाव पड रहा है ।जिसके कारण कन्स्ट्रक्शन मूल्य में20 से30% वृद्धि हुई है और प्रॉपर्टी मे लगभग 300 रुपये प्रति स्क्वेअर फूट मूल्यवृद्धी आगामी महीनोंमे निश्चित है। बांधकाम निर्माण सामग्री की कीमतें पिछले कुछ महीनों में लगातार बढ़ रही है।इससे बांधकाम व्यवसाय को भी प्रभावित किया है ।

डेव्हलपर्स जो अपने ग्राहकों को सर्व सुविधायुक्त परिसर कम किमतो मे देने के लिए प्रयासरत है ।उनके लिये निर्माण सामग्री की बढ़ती कीमतें कठिनाई पैदा कर रही है और प्रॉपर्टी की कीमतो मे वृद्धि अपरिहार्य है ।मुख्य रूपचे सिमेंट,रेत, स्टील लोहा आदी निर्माण सामग्री की कीमतो मे वृद्धि हुई है ।डेवलपर्स का कहना है इन बढ़ती कीमतों ने उनके प्रोजेक्ट को नये ऑफर्स के साथ आनेऔर अपने ग्राहकों के लिए किसी भी तरीके की छूट देने कि उनके क्षमता को सीमित कर दिया है।

अब कोई भी प्रोजेक्ट सुरू करने के लिए अतिरिक्त खर्च करने होंगे और इस वजहसे फ्लैट की कीमते बढ़ना निश्चित है।खुदरा सिमेंट की कीमते ४०से ५० टक्के बढ़ गई है। मई २०२१मे २५० रुपये मे मिलने वाले पचास किलो सिमेंट बॅग की किंमत जून महिने मे बढ़कर ३७० रुपये प्रति बैगहो गई है । और जुलाई मे इसकी कीमत फिर बढ़ने की संभावना है। इसी तरह स्टील जो बांधकाम में होने वाली दुसरी सबसे महत्वपूर्ण चिज है उसके मूल्य में भी लगातार तेजी देखी जा रही है।लोहे की किंमत ३०से ४० रुपये प्रति किलो से६०-६५रुपये प्रति किलो हो गई है ।

इस साल जनवरी के बाद से पाईपिंग और इंसुलेशन सामग्री की लगभग १५टक्के की वृद्धि हुई है।जिसके परिणाम स्वरूप रालऔर पॉलिमर की कीमते भी बढ़ गई है। क्रेडाई नागपूर मेट्रो के सचीव गौरव अग्रवाल का कहना है कि स्टील कंस्ट्रक्शन का एक प्रमुख घटक है और उसकी बढ़ती क़ीमतें हमारे लिये चिंता का विषय है ।हम जितना हो सके लागत मे बढ़ोतरी का प्रभाव पडने नही देने की कोशिश कर रहे है। लेकिन यह मूल्यवृद्धी फ्लैट की अंतिम किंमतोंके निर्धारण को प्रभावित कर सकती है।

बांधकाम मे उपयोग आनेवाली अन्य महत्त्वपूर्ण सामग्री जैसे रेत एम्स अंड स्टोन ऍग्रीगेट्स प्लायवुड, सैनिटरी इत्यादी कीमतों में एक साल मे मूल्यवृद्धी हुई है ।जिसका प्रभाव कन्स्ट्रक्शन की लागत पर पड़ रहा है। कानफेडरेशन ऑफ रियल इस्टेट डेवेलपर्स असोसिएशन ऑफ इंडिया के डेवेलपर्स का कहना है कि निर्माण सामग्री मे उपयोग होने वाली यह वृद्धी कंस्ट्रक्शन क्षेत्र को प्रभावित कर रही है और आम लोगो को अपने सपनो का घर खरीदने के लिए और अधिक खर्च करना पडेगा।

इस वार्ता में शंकरदास चावला, सुनील दुग्गलवार, विजय दरगन,राजमोहन साहू,अनिल नायर,चंद्रशेखर ख़ूने, विजय जोशी आदी पदाधिकारी एवं सदस्य उपस्थित थे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Don`t copy text!